Breaking News

वर्ल्ड ओआरएस डे पर ओआरएस पैकेट बांट के किया जागरूक

वर्ल्ड ओआरएस डे पर डॉ नीरज की टीम शहर के आसपास की कॉलोनियों में ओआरएस के पैकेट वितरित किये व लोगो को डायरिया से बचने को साफ व उबला हुआ पानी पीने को जागरूक किया ।

आईएमए के पूर्व प्रेसिडेंट डॉ नीरज कुमार व उनकी टीम ने सैंकड़ों ओआरएस के पैकेट बांटे व निवासियों को डायरिया व डिहाइड्रेशन से बचने का जागरूक किया।

डॉक्टर नीरज ने बताया डायरिया भारत में 5 साल से कम उम्र के बच्चों की मौत का प्रमुख कारण है और वह एक सरल प्रभावी और बिल्कुल कम लागत वाला आसान इलाज है जो कि डायरिया से संबंधित 93 परसेंट मौतों को रोक सकता है। डॉक्टर नीरज ने बताया कि लेटेस्ट राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण के अनुसार भारत में डायरिया से पीड़ित केवल 51 पर्सेंट बच्चों को ही ओआरएस मिल पाता है । डॉ नीरज ने बताया कि भीषण गर्मी में उल्टी-दस्त, डायरिया का प्रकोप सबसे ज्यादा होता है। यह मौसम बच्चों के लिए सबसे ज्यादा नुकसानदायक है। बच्चों की मृत्यु का एक बड़ा कारण उल्टी-दस्त, डायरिया भी माना जाता है। यदि पीड़ित बच्चों को पहले दस्त में ही ओआरएस का घोल पिलाना शुरू कर दिया जाए तो उसकी मृत्यु टाली जा सकती है। ओआरएस का घोल घर में भी आसानी से नमक व चीनी मिलाकर बनाया जा सकता है।

About ANV News

Check Also

विशेष बच्चों को शिक्षित करेंगे और समाज की मुख्य धारा से जोड़ेंगे तो समाज जरूर आगे बढ़ेगा – राज्य आयुक्त राजकुमार मक्कड़

कैथल। हरियाणा राज्य आयुक्त (नि:शक्त जन) राजकुमार मक्कड़ ने कहा कि विद्या का दान सबसे …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share