शहीद रविंद्र को पैतृक गांव में हुआ अंतिम संस्कार

0
38

जम्मू कश्मीर के राजौरी जिला के नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तानी गोलाबारी में शहीद हुए झज्जर के कस्बा साल्हावास के शहीद रविन्द्र जाखड़ का रविवार को पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया। शहीद के अंतिम संस्कार में साल्हावास हीं नहीं बल्कि क्षेत्र के लोगों को हजूम उमड़ा और उन्होंने नम आंखों से रविन्द्र की शहादत पर गर्व करते हुए उन्हें श्रद्धाजंलि अर्पित कर विदाई दी। जेजेपी सुप्रीमो अजय चौटाला शहीद के अंतिम संस्कार में विशेष रूप से सम्मलित हुए और

उन्होंने शहीद को पुष्पचक्र अर्पित करते हुए श्रद्धाजंलि दी। बीती देरशाम शहीद रविन्द्र जाखड़ का शव झज्जर पहुंचा था। जिसे यहां शहर की प्रिया कालोनी स्थित सर्विस लीग कार्यालय में सम्मान के साथ रखवाया गया था।

रविवार को एक विशाल काफिले के साथ शहीद रविन्द्र जाखड़ के पार्थिव शरीर को एक गाड़ी में ले जाया गया। शहीद के पार्थिव शरीर के गांव पहुंचते ही ग्रामीणों ने गगनभेदी नारों के साथ शहीद की पार्थिव देह का सम्मान किया। बाद में शहीद रविन्द्र जाखड़ के घर से हीं उसके पार्थिव शरीर को गांव की उस पंचायती भूमि तक सम्मान के साथ ले जाया गया जहां पहले भी गांव के दोशहीदों का अंतिम संस्कार किया जा चुका है।

यहां सैन्य सम्मान के साथ मातमी धुन बजाकर व हवा में गोलियां दागकर शहीद को राजकीय सम्मान दिया गया। शहीद रविन्द्र को उसके बड़े बेटे नितिन ने मुखाग्रि दी। इस मौके पर नवीन ने अपने पिता शहीद रविन्द्र की शहादत पर नाज बताया और कहा कि वह भी सेना में भर्ती हो चुके है। उनका मैडिकल चल रहा था,लेकिन इसी बीच उसे उसके पिता की शहादत की सूचना मिली। फिलहाल उसने अपना मैडिकल स्थगित कराया है। लेकिन उसका प्रयास है कि वह भी और उसका छोटा भाई भी देश की सेवा के लिए सेना में भर्ती हो।

उधर शहीद की पत्नी राजवंती ने अपने पति की शहादत पर गर्व जताया और कहा कि वह अपने दोनों बच्चों को देश सेवा के लिए फौज में भर्ती कराएगी। शहीद के परिवार के अन्य लोगों ने भी शहीद रविन्द्र की शहादत को गांव का गौरव बताया है और कहा है कि रविन्द्र व उसके परिवार में शुरू से ही देश सेवा का जज्बा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here