जच्चा-बच्चा वार्ड में नहीं है महिलाओं के लिए बैड

0
202

खबर रेवाड़ी  है आपको बता दे की मरीजों का इलाज करने वाला रेवाड़ी का नागरिक अस्पताल खुद वेंटीलेटर पर है। यहां मरीजों के लिए बैड तक नहीं है। हालात यह है कि प्रसूता वार्ड में गर्भवतियों के लिए बैड तक नहीं है। बैड नहीं होने पर मंगलवार को एक परिवार तो डिलीवरी के लिए खुद अपने साथ बिस्तर व पलंग साथ लेकर आए। प्लंग को वार्ड के पास ही बरामदे में डाला गया और महिला चिकित्सकों ने बाहर ही उसका इलाज किया। खास बात यह है कि यह हालात आज के नहीं, बल्कि काफी पुरानी है। बावजूद इसके अधिकारियों के कानों तक जूं नहीं रेंगी। इसके अलावा प्रसूता वार्ड में इलाज भी सही तरीके से नहीं मिल पा रहा है।गुरुग्राम के गढ़ी हरसरू निवासी गर्भवती ललिता ने बताया कि उसके देवर रिंकू ने डिलवरी के लिए उसे रेवाड़ी के नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया। उस समय महिला चिकित्सकों ने परिवार को साफ कर दिया कि बैड खाली नहीं है। रिंकू ने प्रसूता वार्ड में जाकर देखा तो वहां एक बैड पर दो-दो गर्भवति भर्ती थी। महिला चिकित्सकों से बात की तो कहा कि नीचे जमीन पर लैटा तो। उसके बाद रिंकू अपने घर से फॉल्डिंग प्लंग व बिस्तर लेकर पहुंचा। उसके बाद महिला चिकित्सकों ने उसकी डिलीवरी कराई। मंगलवार को महिला को छुट्टी मिली। उस दौरान तक भी हालात यहीं बने हुए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here