Breaking News

मुकेश अग्निहोत्री की चेतावनी, कांग्रेस पार्टी आक्रमक होकर उठाएगी जनता के मुद्दे

शिमला: हिमाचल प्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र 10 अगस्त से 13 अगस्त तक होने जा रहा है. इससे पहले 9 अगस्त को हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने सर्वदलीय बैठक बुलाई. बैठक की अध्यक्षता के दौरान विपिन सिंह परमार ने सभी दलों से सहयोग की अपील की.

हिमाचल प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने कहा कि बैठक में सभी दलों से सहयोग की अपील की है. उन्होंने कहा कि यह मौजूदा सरकार का आखिरी सत्र है. वे चाहते हैं कि इस सत्र में ज्यादा से ज्यादा जनता के मुद्दे उठाए जाएं. उन्होंने कहा कि सदन के सदस्यों की ओर से अलग-अलग नियमों के तहत कई प्रश्न प्राप्त हुए है. सभी सदस्यों को नियमों के तहत मुद्दे उठाने की स्वतंत्रता है. उन्होंने कहा कि यदि सदस्य नियमों से बाहर जाकर सदन में प्रश्न उठाने की कोशिश करेंगे, तो उन्हें की अनुमति नहीं दी जाएगी. विपिन सिंह परमार ने स्पष्ट किया है कि केवल नियमों के तहत ही सदन में सदस्यों को बोलने दिया जाएगा.

सर्वदलीय बैठक खत्म होने के बाद संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि यह मौजूदा सरकार का आखिरी मॉनसून सत्र है. ऐसे में सरकार विपक्ष से सहयोग की अपेक्षा कर रहा है. उन्होंने कहा कि सदन के सदस्यों की ओर से अलग-अलग विषयों को लेकर कई सवाल प्राप्त हुए हैं. संसदीय कार्यमंत्री सुरेश भारद्वाज ने उम्मीद जताई कि सदन का यह मानसून सत्र कार्यशील रहेगा. उन्होंने कहा कि विधानसभा सत्र के दौरान लोगों की समस्याओं के बारे में चर्चा हो, यह बेहद आवश्यक है. ऐसे में सरकार ने भी विपक्ष से सहयोग की अपील की है.

वहीं, नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि यह जयराम सरकार का आखिरी सत्र है. इसके बाद कांग्रेस पार्टी की सत्ता में आएगी. उन्होंने कहा कि आज बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी से जनता परेशान है. मौजूदा सरकार से हर वर्ग त्रस्त हो चुका है. ऐसे में जनता ने जनता के मुद्दे उठाने के लिए कांग्रेस पूरी तरह तैयार है. उन्होंने कहा कि विधायकों के साथ बैठकर सरकार को घेरने की रणनीति तैयार कर ली गई है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पूरी तरीके से आक्रमक होकर सरकार को घेरने का काम करेगी. नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि सदन में उन्हें नियमों के तहत मौका मिले या नहीं, वे हर हाल में सरकार को घेरने का काम करेंगे. नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि जयराम सरकार सत्र से डरती है. यही वजह है कि मॉनसून सत्र में केवल चार ही बैठकें रखी गई हैं. उन्होंने कहा कि सरकार के साल की 35 बैठकें भी पूरी नहीं करा पा रही है.

बता दें कि सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता हिमाचल प्रदेश विधान सभा के अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने की. बैठक में संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज, मुख्य सचेतक विक्रम जरियाल, नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री और सीपीआईएम के विधायक राकेश सिंघा मौजूद रहे.

About ANV News

Check Also

हिमाचल सरकार के कर्ज लेने पर रामलाल ठाकुर ने सरकार पर साधा निशाना

हिमाचल कांग्रेस चुनाव प्रबंधन कमेटी के अध्यक्ष और नैना देवी से विधायक रामलाल ठाकुर ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share