Monday , July 15 2024
Breaking News

नागौर लोकसभा चुनाव,400 पदाधिकारियों ने एक साथ छोड़ी पार्टी, कांग्रेस में भगदड़…. जानें वजह!

राजस्थान की बहुचर्चित नागौर लोकसभा सीट के लिए चुनावी दंगल तेज हो गया है। यहां हाल ही में विधानसभा चुनाव में हनुमान बेनीवाल के सामने खींवसर से कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ने वाले तेजपाल मिर्धा सहित सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को पार्टी छोड़ दी है। इन्होंने सामूहिक रूप से त्याग-पत्र दे दिया है। यह नागौर की सियासत में बड़ा राजनीतिक धमाका माना जा रहा है।

तेजपाल मिर्धा के आह्वान पर कुचेरा नगर पालिका के 21 पार्षदों, 8 पूर्व पार्षद और 7 पचांयत समिति सदस्यों ने कांग्रेस की सदस्यता से त्यागपत्र दे दिया है। इसके साथ ही करीब 400 छोटे-मोटे पदाधिकारियों ने भी इस्तीफा दिया है। इनमें एक ब्लॉक अध्यक्ष, 10 उपाध्यक्ष, 24 महासचिव, 22 सचिव, 12 सहसचिव, 30 कार्यकारणी सदस्य, 264 बूथ अध्यक्ष, 01 एनएसयूआई, 01 यूथ कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष शामिल हैं। इन सभी ने तेजपाल मिर्धा को कांग्रेस से निष्कासित किए जाने से नाराज होकर कांग्रेस छोड़ी है।

एक साथ बड़ी संख्या में पदाधिकारियों द्वारा त्यागपत्र दे दिए जाने से कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। विशेषकर खींवसर में कांग्रेस के लिए यह बड़ी मुसीबत खड़ी हो गई है क्योंकि ब्लॉक अध्यक्ष से लेकर बूथ स्तर तक के कई पदाधिकारियों ने कांग्रेस छोड़ दी है।

दरअसल पिछले सप्ताह जायल क्षेत्र में भाषण के दौरान इंडी गठबंधन के प्रत्याशी हनुमान बेनीवाल ने गठबंधन को मतीरों का भारा (टोकरा) कहा था। उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस के चार पांच नेता ऐसे हैं जो बीजेपी का दुपट्टा पहनकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं। बेनीवाल ने कहा था कि वे कांग्रेस के जिला अध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी रंधावा को भी इसकी शिकायत कर चुके हैं, लेकिन फिर भी उनको कांग्रेस से बाहर नहीं निकाला जा रहा।

About admin

Check Also

सवर्गीय राजा वीरभद्र सिंह की पुण्यतिथि के मौके पर दौड़ का किया गया आयोजन

आज हिमाचल प्रदेश के 6 बार के मुख्यमंत्री रहे सवर्गीय राजा वीरभद्र सिंह की पुण्यतिथि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *