Breaking News
Nalagarh news

नालागढ़ जिला परिषद कैडर के कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर की अनिश्चितकाल हड़ताल

पूरे प्रदेश के साथ-साथ आज नालागढ़ में भी सभी जिला परिषद कैडर कर्मचारी बीडीओ कार्यालय सभागार मे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठ गए। ऐसे में पंचायत करने में कार्य करवाने के लिए आए लोगों को खाली हाथ लौटना पड़ा। जिला परिषद कैडर आपको बता दे हिमाचल प्रदेश में जिला परिषद कैडर के अधीन कार्यरत करीब 4700 अधिकारी/कर्मचारी पिछले 24 वर्षों से विभाग में विलय की राह देख रहे है।

इस कैंडर के अधीन पंचायत सचिव, तकनीकी सहायक, कनिष्ट अभियंता, सहायक अभियंता, डिज़ाइन अभियंता, अधिशासी अभियंता, लेखापाल, सेवादार कर्मचारी आते है। बहुत लम्बे अन्तराल के बाद नियमितीकरण होने पर भी जिला परिषद कैडर के कर्मचारियों को अन्य विभागों की तरह स्थाई सरकारी कर्मचारियों की तर्ज पर सुविधाएं व विनीय लाभ नहीं दिए जा रहे है।जबकि जिला परिषद कैडर में सभी कर्मचारी / अधिकारी पंचायती राज व ग्रामीण विकास विभाग का कार्य कर रहे है इतनी लम्बी सेवाओं के बावजूद भी पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास जैसे महत्वपूर्ण विभाग का कार्य बखूबी निभाने के उपरांत भी यदि हमे सरकारी कर्मचारी की श्रेणी में नहीं लिया जाता तो यह हमारे लिए बहुत ही दुःखद विषय है। जिलाअध्यक्ष ओमप्रकाश ने कहा कि पूर्व भाजपा सरकार ने भी उनके हितों के साथ खिलवाड़ किया है आज अगर भाजपा सरकार सत्ता से बाहर हुई है तो इसका मुख्य कारण जिला परिषद कैडर के कर्मचारी ही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने अपने मेनिफेस्टो में वायदा किया था कि पहली कैबिनेट की बैठक में जिला परिषद के कर्मचारियों को विभाग में विलय किया जाएगा लेकिन 9 माह बीत जाने के बाद भी उनकी मांग को पूरा नहीं किया गया |

उन्होंने कहा कि राज्य कार्यकारणी के आदेशानुसार विकास खंड नालागढ़ के समस्त जिला परिषद कैडर के कर्मचारी व अधिकारी जब तक हमारी मांग पूर्ण नहीं होती तब तक विकास खंड परिसर में कलम छोड़ो अनिश्चित कालिन हड़ताल पर बैठे रहेंगे और हम आशा करते है की वर्तमान सुख की सरकार जल्द से जल्द हमारी मुख्य एकमात्र मांग विभाग में विलय की पूर्ण करेगी।

About ANV News

Check Also

Himachal News

Himachal: राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सरकाघाट की बेटियों ने सीखे आत्म रक्षा के गुर।

सरकाघाट। राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सरकाघाट में 23 नवंबर से 28 नवंबर तक विद्यालय …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share