Thursday , February 22 2024
Breaking News

नई क्लस्टर व्यवस्था नीति की अधिसूचना हो रद्द – प्राथमिक शिक्षक संघ

चंबा। प्राथमिक शिक्षक संघ तीसा और कल्हेल ने बीते कल यानी वीरवार को संयुक्त रूप से प्राथमिक पाठशालाओ में नई क्लस्टर व्यवस्था को लेकर अपना विरोध दर्ज किया है। उन्होंने इस बाबत अपना एक मांग पत्र विधानसभा चुराह से कांग्रेस प्रत्याशी रहे यशवंत खन्ना के माध्यम से मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू व शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर को अपना ज्ञापन सौंपा है। जिसमें संघ का कहना है कि नई क्लस्टर व्यवस्था की अधिसूचना को सरकार जल्द से जल्द वापस ले संघ का कहना है कि सरकार की जारी नई क्लस्टर नीति का हम पुरजोर विरोध करते हैं। क्लस्टर सिस्टम में किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ ना की जाए इसकी स्थिति  यथावत रहनी चाहिए उनका कहना है कि जब तक नए क्लस्टर व्यवस्था को पूर्ण रूप से निरस्त नहीं किया जाता तब तक वह इसका विरोध करते रहेंगे उनका कहना है कि शिक्षक संघ पहले से ही बहुत काम के बोझ तले हैं उनके पास कुल आठ कक्षाएं हैं तथा प्रत्येक पाठशाला में एक या दो अध्यापक ही कार्यरत है।

नई क्लस्टर नीति आने से पाठशाला का कार्य पूर्ण रूप से प्रभावित होगा और बच्चों को नहीं पढ़ा पाएंगे अर्थात जैसे कार्य कर रहे हैं वैसा नहीं कर पाएंगे उन्हें प्रधानाचार्य पास के पास कई प्रकार की बैठकों में उन्हें शामिल होना पड़ेगा जिससे बच्चों की पढ़ाई का भी नुकसान होगा व प्राथमिक शिक्षक संघ स्पेशल कोर्स के माध्यम से चुने जाते हैं जैसे डीएलएड और जेबीटी जो बच्चों की हर समस्या को अपने तरीके से हल करने में सक्षम होते हैं नई क्लस्टर नीति के कारण बच्चो के लिए और भी मुसीबत खड़ी हो सकती है शिक्षा विभाग में क्लस्टर बनाने का कार्य चल रहा है जिससे हम सहमत हैं क्यूंकि विभाग में कक्षा 6 से 12 वीं तक क्लस्टर व्यवस्था न के बराबर है तथा वहां इसकी आवश्यकता हो सकती है परंतु कक्षा नर्सरी से लेकर 5 वीं तक (3+5 आठ कक्षाओं) तक के क्लस्टर बने हुए हैं और पूर्व से ही बहुत बेहतर तरीके से काम कर रहे हैं l जहां इन आठ कक्षाओं के अध्ययन के साथ-साथ सभी तरह के गैर शैक्षणिक कार्य को भी प्राथमिक शिक्षक बखूबी कर रहे हैं l इस लिए प्राथमिक पाठशालाओं नर्सरी से कक्षा 5 तक के लिए पुनः क्लस्टर व्यवस्था में फेरबदल की आवश्यकता नहीं है l

बल्कि इनको वर्तमान ढांचे के अनुसार रखते हुए और अधिक सुदृढ़ करने की आवश्यकता है l जिसका संघ के सभी अध्यापक सर्व सहमति से नई क्लस्टर नीति का विरोध करते हैं और बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दे रहे हैं शिक्षा खंड कल्हेल के अध्यक्ष देवराज व शिक्षा खंड तीसा के अध्यक्ष दुनीचंद शर्मा  का कहना है कि वर्तमान क्लस्टर व्यवस्था  ढांचे से छेड़छाड़ न की जाए l प्राथमिक वर्ग में क्लस्टर यथावत पूर्व की भांति ही रखे जाएं इनसे छेड़ छाड़ होने की स्तिथि में धरातल पर टकराव व मानसिक दवाब की स्थिति बन रही है l इसलिए हम इसका खंडन व विरोध करने के लिए विवश हैं और इससे भविष्य में हमारी पदोन्नति आदि प्रभावित होने से भी आशंकित हैं l सरकार अपनी नई क्लस्टर नीति को तत्काल प्रभाव से वापस ले और पुरानी क्लस्टर व्यवस्था नीति को जारी रखें नई क्लस्टर नीति पर जारी की गई अधिसूचना को रद्द करें। इस बारे मे शिक्षक खंड कल्हेल व तीसा के अध्यापकों द्वारा अपनी मांगों को लेकर एक ज्ञापन मेरे माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री को सोंपा है जिसके लिए इनकी मांगों को सरकार के समक्ष रखा जाएगा।

About admin

Check Also

Haryana News

सरप्लस बरसाती पानी के सदुपयोग को लेकर राजस्थान व हरियाणा के बीच हुआ DPR बनाने का समझौता….

चंडीगढ़। मानसून में जुलाई से अक्टूबर के दौरान, जो बरसाती पानी नदी के ज़रिए समुद्र …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *