नशा मुक्ति के लिए वरदान बना ओएसटी सेंटर

0
167

हरियाणा: जींद जिले में युवाओं को नशा मुक्त करने के लिए सिविल अस्पताल का ओपिऑयड सब्स्टीट्यूशन थेरेपी (OPIOID SUBSTITUTION THERAPY) सेंटर बेहतर प्रयास कर रहा है… यहां पिछले दो साल में 79 युवाओं को नशा मुक्त किया गया है.. जबकि कुल 309 मरीजों में से 137 का इलाज अब भी चला रहा है जिनमें से कई मरीजों का इलाज लगभग अंतिम चरण में है… और 79 युवा ऐसे भी है जो इलाज बीच में छोड़ कर चले गए है और 22 मरीज ऐसे भी है जिनकी मौत हो चुकी है… सेंटर का मुख्य फोकस इंजेक्शन से नशा लेने वाले युवाओं पर है…. शराब और अन्य प्रकार का नशा छुड़ाने के लिए भी यहां से सलाह ली जा सकती है… इसके अलावा अन्य नशे के आदी 71 लोग नशा छोडक़र समाज की मुख्य धारा से जुड़ गए हैं… नशा छुड़ाने के लिए मरीज का सेंटर पर एक साल तक इलाज चलता है। हर रोज मरीज को दवा खानी पड़ती है। शुरुआत में मरीज को नशे की तलब मिटाने के लिए टेबलेट देनी पड़ती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here