2022 में मिशन रिपीट होगी राजीव बिंदल की चुनौती

0
200

शिमला : एक साधारण कार्यकर्ता के रूप में अपने राजनीतिक करिअर की शुरुआत करने वाले डॉ. बिंदल पहले  स्वास्थ्य मंत्री फिर  विधानसभा अध्यक्ष के पदों से होते हुए अब प्रदेश अध्यक्ष बने हैं। प्रदेश भाजपा के मुखिया डॉ. राजीव बिंदल के लिए चुनौतियां  कम नहीं होंगी । पंचायत चुनाव के बाद वर्ष 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में मिशन रिपीट का उन पर काफी दबाव रहेगा। यहीं नहीं, पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को एक सूत्र में पिरोना भी उनके लिए बड़ी चुनौती रहेगा। ।  विधानसभा अध्यक्ष पद पर पदासीन  रहते हुए अकसर  विपक्ष ने उन्हें निशाने पर लेने की कोशिश की। राजनीतिक गलियारों में आम चर्चा है कि अब प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद बिंदल राजनीति की बिसात पर चेक एंड मेट का खेल खेलेंगे तो संगठन को और अधिक मजबूत बनाने के लिए जरूरी ‘उपचार’ भी करेंगे  ……

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here