सोनिया से मिलकर महाराष्ट्र की पिच पर शरद पवार ने फेंकी गुगली

0
243

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर अब भी सस्पेंस बरकरार है. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार सोमवार को जब कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने 10 जनपथ पहुंचे तो लगा कि आज शायद महाराष्ट्र का गतिरोध खत्म हो जाए. लेकिन सोनिया गांधी से मीटिंग के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में शरद पवार ने यह कहकर शिवसेना की इन उम्मीदों पर एक तरह से पानी ही फेर दिया कि अब तो सरकार बन ही जाएगी.शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत लगातार सरकार गठित किए जाने का दावा कर रहे हैं. वो बोले चुके हैं, ‘हम सदन में 170 विधायकों के आंकड़े के साथ बहुमत सिद्ध करेंगे. शरद पवार अनुभवी हैं, वो सरकार चाहते हैं. इसलिए उनका अनुभव काम आएगा. शरद पवार को लेकर हमारे मन को कोई संशय नहीं हैं. एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर हम अगले पांच साल तक सरकार चलाएंगे.’ सोनिया गांधी से मीटिंग के बाद शरद पवार ने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी के नेता हालात का जायजा लेने के अलावा दोनों पार्टियों के नेताओं से बातचीत करेंगे. अब तक सरकार गठन को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई. हमने अन्य मुद्दों पर बातचीत नहीं की. हम स्थिति पर नजर बनाए रखेंगे. सभी नेताओं की राय लेने के बाद ही आगे का रास्ता तय करेंगे. शरद पवार ने यह भी कहा कि स्वाभिमानी शेतकरी संगठन भी हमारे साथ है. उनके विधायक जीते हैं. हम उन्हें भी दरकिनार नहीं कर सकते. पवार ने कहा, हम सभी दलों को भरोसे में लेंगे.सियासत के चतुर खिलाड़ी माने जाने वाले शरद पवार सरकार गठन को लेकर उत्साहित शिवसेना को अपनी ‘गुगली’ से चित करेंगे क्या? एनसीपी, कांग्रेस के साथ सरकार गठन के सपने देख रही शिवसेना की चिंताएं शरद पवार की सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद और बढ़ गईं होंगी. शिवसेना की यह चिंता दिल्ली में देर शाम शरद पवार से मुलाकात के बात संजय राउत की बातों में साफ नजर आई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here