हिमाचल विधानसभा का छह दिवसीय शीत सत्र आज से

0
137

जयराम सरकार के सत्तासीन होने के बाद हिमाचल प्रदेश विधानसभा का तीसरा शीत सत्र आज  धर्मशाला के तपोवन में दोपहर दो बजे से शुरू होगा। छह दिन चलने वाले सत्र के पहले दिन की शुरुआत पूर्व विधानसभा सदस्य जय कृष्ण शर्मा, बिक्रम सिंह कटोच और राम रतन पटाकू के निधन पर शोकोद्गार से होगी। सदन में मुख्यमंत्री व अन्य मंत्री जरूरी दस्तावेज सभा पटल पर रखेंगे। उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह एक अध्यादेश भी सदन में पेश करेंगे। तीन विधायक विभिन्न नियमों के तहत कुछ विषयों पर सरकार का ध्यान आकर्षित करेंगे। हालांकि कई ऐसे मुद्दे हैं, जिनपर पहला दिन तप सकता है। प्याज के दामों पर सत्र से एक दिन पहले नियंत्रण, महंगाई गुड़िया दुष्कर्म व हत्याकांड, तपोवन सड़क, शिक्षा स्वास्थ्य और इन्वेस्टर्स मीट पर विपक्ष सरकार को घेर सकता है। पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार के गुड़िया मामले में आए बयान के बाद विपक्ष के लिए यह बड़ा मुद्दा होगा। ऐसा इसलिए भी है क्योंकि शांता के अलावा हाल ही में प्रदेश सरकार ने खुद भी सूरज हत्याकांड के आरोपी अधिकारियों को बहाल कर नियुक्ति प्रदान कर दी है। विपक्ष इस बात पर सरकार को घेर सकता है कि वह विपक्ष में रहने के दौरान जिस मुद्दे का राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश में जुटी थी, वही पार्टी अब आरोपी अफसरों को बहाल कर नियुक्ति दे रही है। सत्र में शामिल होने के लिए सरकार, सत्ता पक्ष और विपक्ष रविवार को धर्मशाला पहुंच गए। 14 दिसंबर तक चलने वाले सत्र मे 12 दिसंबर को गैर सरकारी सदस्य दिवस होगा।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here