Breaking News

सुभाष चावला को शहर की तरक्की पसंद नहीं है-में देवेंद्र सिंह बबला

 भारतीय जनता पार्टी  चंडीगढ़ के उपाध्यक्ष देवेंद्र सिंह बबला ने कांग्रेस  के पूर्व अध्यक्ष व पूर्व मेयर सुभाष चावला के उस बयान को हास्यास्पद बताया है जिसमें  सुभाष चावला ने चंडीगढ़ का स्वच्छता रैंक में 12वें स्थान को प्राप्त करना शर्म बात बताया था ।
आज यहां जारी एक बयान में देवेंद्र सिंह बबला ने कहा कि सुभाष चावला को शहर की तरक्की पसंद नहीं है या उम्र बढ़ने के साथ उनका दिमागी संतुलन बिगड़ गया है जो शहर की स्वच्छता रैंक में सुधार होने पर भी शहर के लिए शर्म की बात बता रहे हैं ।

बबला ने कहा कि सुभाष चावला का बयान पूरी तरह पूरी तरह से झूठ का पुलिंदा है।
चावला  कहते हैं उनके समय में चंडीगढ़ स्वच्छता में दूसरे या तीसरे नंबर पर आता था,  शायद उनको याद नहीं रहा कि शहर की स्वच्छता की रैंकिंग 2016 में शुरू हुई थी और उस समय भाजपा के अरुण सूद मेयर थे । उस समय शहर की रैंकिंग दूसरे नंबर पर आई थी।  कांग्रेस के मेयर 2015 तक ही रहे तब तक तो स्वच्छता रैंकिंग होती ही नहीं थी,  इस प्रकार सुभाष चावला बिल्कुल झूठा  और बेबुनियाद बयान दे रहे हैं।

 इसके अलावा स्वच्छता रैंकिंग खराब करने के लिए केवल कांग्रेस ही जिम्मेदार है। उनके समय की नीतियां ,जेपी गार्बेज प्रोसेसिंग प्लांट जिम्मेदार है.  कूड़े का ढेर कांग्रेस की देन है.  आज चावला यह भी भूल गए कि वे स्वयं जर्मनी गए थे और वहां से प्रोसेसिंग प्लांट की मशीन फाइनल करके आए थे जिनकी वजह से कूड़े का ढेर बढ़ता गया,  एसएसके भी कांग्रेस के समय बनाए गए जिनसे  पूरे शहर में कूड़े के ढेर  लग गए थे  सुभाष चावला व  कांग्रेस ही इसके लिए पूरी  तरह से जिम्मेवार है ये अपने कुकृत्यों से  भाग नहीं सकते। भाजपा  अब कांग्रेस की करतूतों को ठीक करने में लगी है।  कल भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद ने पूरी डिटेल में जानकारी दी थी और दोहराया था कि भाजपा शहर को स्वच्छता की रैंकिंग में नम्बर  एक पर लाने के लिए प्रतिबद्ध  है ।

बबला ने यह भी कहा कि सुभाष चावला यह बताएं कि उन्होंने शहर की स्वच्छता रैंकिंग में सुधार के शिवाय कोरी  ओर घटिया राजनीति के अलावा  क्या किया ।

About shivani

Check Also

आगामी बैठक में भी विवाद का मसला सिरे नहीं चढ़ता

(कश्मीर ठाकुर)- किराये को लेकर अदाणी समूह से ट्रक आपरेटरों का चल रहा विवाद 55 …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share