बूंदाबांदी के बीच खुला पड़ा रहा बाजारा

0
166

जिले की बावल, कोसली व रेवाड़ी अनाज मंडी में करीब 16 हजार मीट्रिक टन(एमटी) बाजारा खुले में पड़ा हुआ है। बावजूद इसके जिम्मेदारों की ओर से गोदाम या फिर बरसात से बचाने के लिए कोई ठोस व्यवस्था नहीं की गई। शुक्रवार को आशंका के अनुसार बूंदाबांदी के दौरान भी बाजारा खुले में पड़ा रहा। खरीद एजेंसी व खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारियों से जब इस बाबत बात की गई तो उन्होंने बताया कि व्यवस्थाओं का जिम्मा मार्केट कमेटी का है। ऐसे में बाजरा भीगने से बचाने की जिम्मेदारी भी उनकी है। इधर, मार्केट कमेटी के अधिकारियों का कहना है कि किसानों का बाजरा न भीगे इसके लिए सभी संभव प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन खाद्य आपूर्ति विभाग की ओर से नियमित उठान नहीं होने के कारण जिले की मंडियों में 16 हजार एमटी बाजरा एकत्रित हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here