जहानाबाद जिला मुख्यालय में मूर्ति विसर्जन के दौरान हुए पथराव के बाद दो पक्षों के बीच हिंसक झड़प

0
227

मगध प्रमंडल के जहानाबाद जिला मुख्यालय में मूर्ति विसर्जन के दौरान हुए पथराव के बाद दो पक्षों के बीच हिंसक झड़प और हंगामे से विस्फोटक और तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है। पुलिस मुख्यालय के आदेश पर अतिरिक्त पुलिस बल जहानाबाद भेजा गया है। पथराव में तीन पुलिसकर्मियों के घायल होने की सूचना है। वहीं, पथराव में कितने नागरिक जख्मी हुए और कितने लोगों को हिरासत में लिया गया है, इस संबंध में स्थानीय पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों की तरफ से अधिकृत रूप से पुष्टि नहीं की गई है। वहीं, जहानाबाद में हिंसक झड़प के बाद सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है।
एक पक्ष के लोग सुरक्षा की मांग को लेकर नारेबाजी करते हुए हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं।राजाबाजार में तीन दुकानों को उपद्रवियों ने आग लगाकर लाखों रुपए का नुकसान पहुंचाया है।
बुधवार देर शाम शहर में प्रतिष्ठापित 26 मूर्तियों के साथ जुलूस में शामिल विभिन्न मुहल्लों के श्रद्धालुओं की भीड़ संगम घाट की ओर बढ़ रही थी। देर रात करीब तीन बजे किसी उपद्रवी ने पथराव कर दिया जिससे नया टोला की मूर्ति क्षतिग्रस्त हो गई।
परंपरा रही है कि संगम घाट पर प्रतिष्ठापित मूर्ति सबसे आगे रहती है और उसके पीछे शेष अन्य 25 मूर्तियां। मूर्ति क्षतिग्रस्त के बाद हंगामा और पथराव शुरू हो गया।
दोनों पक्षों को शांत करा रहे तीन पुलिसकर्मी पथराव में घायल हो गए। उग्र भीड़ ने मीडियाकर्मियों पर भी समाचार संकलन और फोटोग्राफी के दौरान हमला किया।एक मीडियाकर्मी के घायल होने की सूचना है।
पुलिस महानिरीक्षक, मुख्यालय नैयर हसनैन खान ने बताया कि पटना से रैपिड एक्शन फोर्स की एक कंपनी, एसएसबी की एक कंपनी, अरवल और गया से अतिरिक्त पुलिस बल जहानाबाद भेजा गया है। मगध रेंज के आईजी पारसनाथ को जहानाबाद में डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के आदेश पर कैंप करने को कहा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here