हेलमेट पहनकर बरसाईं दनादन गोल‍ियां

0
97

एक तरफ योगी सरकार पत्रकारों पर एफआईआर कर अपनी पुलिस को पत्रकारों के पीछे लगाती जा रही है तो वहीं अपराधी बेखौफ होकर दिन में फिल्मी स्टाइल में दुस्साहसिक ढंग से हत्या जैसे जघन्य अपराध को अंजाम देने से भी नहीं कतरा रहे हैं. वाराणसी के कैंट थाना क्षेत्र के मड़वा गांव में हुए एक सनसनीखेज मर्डर का लाइव वीडियो सीसीटीवी में कैद हो गया जिसको देखकर किसी के भी रौंगटे खड़े हो जाएंगे.सफेद शर्ट और पैंट में सबसे आगे वाला शख्स हेलमेट लगाए हुए है तो उसके पीछे लाल शर्ट और जींस पहने शख्स ने गमछे से मुंह बांधा हुआ है. सफेद शर्ट पहने शख्स ने अपनी कमर में एक पिस्टल दबाई और फिर दूसरी पिस्टल को निकालकर गोलियों की बौछार चाय-पान बेचने वाले दुकानदार पर कर दी.उसका लाल शर्ट वाला साथी भी दुकानदार को गोलियों से छलनी करने के बाद कई राउंड हवा में फायरिंग कर देता है. ये किसी फिल्म की शूटिंग का नजारा नहीं बल्कि असल हत्या का लाइव सीसीटीवी फुटेज है जो 3 सितंबर को दो दिन पहले पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के क्षेत्र के मड़वा गांव में हुआ था. इसमें जान गंवाने वाला चाय-पान का दुकानदार गांव का ही 30 साल का पैर से दिव्यांग दिलीप पटेल है.दिलीप रोज की तरह अपने घर से कुछ दूरी पर एक छोटी सी गोमती में दुकान पर बैठा था कि दोपहर लगभग 2 बजकर 43 मि‍नट पर दो बदमाश आए और दिलीप पर गोल‍ियों की बौछार कर दी. दिव्यांग दिलीप को भागने का मौका तक नहीं मिला और वह वहीं ढेर हो गया. इस दिनदहाड़े की घटना में वहीं खड़े एक शख्स को भी पैर में गोली लगी जिसका उपचार अस्पताल में चल रहा है.इस वारदात पर एसएसपी आनंद कुलकर्णी का कहना था कि वारदात की वजह आपसी रंजिश थी. कुछ दिन पहले ग्राम प्रधान राजेश की अपहरण की घटना हुई थी जिसमें दिलीप और अन्य लोगों ने प्रधान का साथ दिया था. इस वजह से रंजिश पनपी थी. गोली मारने वाले के बारे में एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि अभी तक जो जानकारी है उसमें झुन्ना पंडित और रवि पटेल नाम के बदमाशों  का नाम सामने आया है. वहीं,  24 अगस्त को मृतक दिलीप द्वारा प्रोटेक्शन दिए जाने को लेकर बात पर एसएसपी ने बताया कि जिस प्रधान का अपहरण हुआ था  उसे प्रोटेक्शन दिया गया था. मृतक उनके साथ काम करता था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here