Friday , July 19 2024
Breaking News

हिमाचल का मौसम: कई जिलों में झमाझम बरसे बादल, 169 बिजली ट्रांसफार्मर ठप, एक सप्ताह तक भारी बारिश का अलर्ट

माैसम विज्ञान केंद्र शिमला की ओर से आज प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

हिमाचल प्रदेश के कई भागों में बीती रात को झमाझम बारिश हुई। आज भी शिमला सहित अन्य भागों में माैसम खराब बना हुआ है। शिमला में हल्की बारिश दर्ज की गई है। माैसम विज्ञान केंद्र शिमला की ओर से आज प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। 3 से 8 जुलाई तक येलो अलर्ट है। उधर, मंगलवार सुबह 10:00 बजे तक जगह-जगह भूस्खलन के चलते राज्य के विभिन्न जिलों में 36 सड़कें बाधित थीं। इसके साथ ही 169 बिजली ट्रांसफार्मर भी ठप पड़े हैं। ऊना में सबसे अधिक 77, मंडी 68 व चंबा में 24 बिजली ट्रांसफार्मर ठप पड़े थे।

कहां कितनी बारिश
बीती रात को धर्मशाला, ऊना, कांगड़ा, मंडी जिले में बादल जमकर बरसे। कांगड़ा में 75.6, बीबीएमबी 77.4, मलरोन 65.0,रायपुर मैदान 51.4, ओलिंडा 50.0, नयना देवी 44.6, बरठीं 41.6, नंगल डैम 38.2 व  धर्मशाला में 30.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई।
इन जिलों के लिए भारी बारिश का अलर्ट
मौसम विभाग ने ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर, कांगड़ा, सोलन व सिरमौर जिले में भारी से बहुत भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया। चंबा, कुल्लू, मंडी व शिमला के लिए येलो अलर्ट जारी हुआ है। किन्नौर व लाहौल-स्पीति जिले के लिए किसी तरह का अलर्ट नहीं है। विभाग ने बरसात में स्थानीय लोगों व पर्यटकों को नदी-नालों से दूर रहने की सलाह दी है।

पाड़च्छू पुल के पास चट्टानें गिरीं, एनएच तीन ठप
जालंधर-मंडी एनएच तीन वाया धर्मपुर-कोटली पर मंगलवार अल सुबह 4:00 बजे पाड़च्छू पुल के पास एनएच पर भारी चट्टानें गिर गईं। इससे एनएच यातायात के लिए पूरी तरह से बंद हो गया है। सरकाघाट से धर्मपुर की ओर कोई भी गाड़ी नहीं पहुंची है। इससे लोगों को अपने गंतव्य तक पहुंचने में भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। गनीमत यह रही कि पहाड़ी से गिरी चट्टानों की चपेट में कोई वाहन नहीं आया, अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। अभी तक इस सड़क को बहाल नहीं किया जा सका है। इस सड़क के बंद होने से दूध, सब्जी व अन्य खाद्य सामग्री की आपूर्ति भी बाधित हो गई है।

सिरमाैर के राजपुरा में भारी बारिश से तबाही, बह गया मंदिर, सड़क व पेयजल लाइन को नुकसान
सिरमाैर जिले के राजपुरा के गांव ताना में भारी बारिश से तबाही हुई है। अचानक बारिश से सड़क को नुकसान हुआ है। साथ ही आईपीएच की पेयजल पाइप लाइन भी क्षतिग्रस्त हो गई है। वहीं, एक छोटा मंदिर भी बह गया। नायब तहसीलदार पांवटा साहिब फरीद मोहम्मद ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि अचानक भारी बारिश से नुकसान हुआ है। कहा कि उन्होंने अधिकारियों के साथ माैके के पर पहुंचकर नुकसान का जायजा लिया।

कहां कितना न्यूनतम तापमान
शिमला में न्यूनतम तापमान 18.5,सुंदरनगर 22.6, भुंतर 24.0, कल्पा 17.2, धर्मशाला 21.0, ऊना 23.4, नाहन 23.9, पालमपुर 20.5, सोलन 21.4, मनाली 20.2, कांगड़ा 22.8, मंडी 24.1, बिलासपुर 25.0, हमीरपुर 25.0, चंबा 24.9, जुब्बड़हट्टी 22.0, कुफरी 16.7, कुकुमसेरी 12.4, नारकंडा 14.9, भरमाैर 19.9, रिकांगपिओ 20.4, धाैलाकुआं 27.4, बरठीं 24.7, समदो 17.6, पांवटा साहिब 27.0, सराहन 20.0, देहरा गोपीपुर 26.0, ताबो 14.9, मशोबरा 18.1, नेरी 25.1, सैंज 21.4 व बजाैरा में 24.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

About Ritik Thakur

Check Also

शिमला में लोगों की परेशानी बढ़ा रही बारिश, लोकल बस स्टैंड के नजदीक भूस्खलन से आवाजाही प्रभावित

शिमला: बीते साल की तरह इस साल भी मानसून की बारिश आम लोगों की परेशानी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *