क्षय रोग मुक्त हिमाचल अभियान के तहत कार्यशाला का आयोजन

0
149

हिमाचल प्रदेश के नालागढ़ में स्वास्थ्य विभाग की ओर से क्षय रोग मुक्त हिमाचल अभियान के तहत आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारियों के लिए एक प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया…कार्यशाला की अध्यक्षता जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डॉ. राजेंद्र शर्मा ने की। डॉ. राजेंद्र शर्मा ने इस अवसर पर कहा कि दो सप्ताह से ज्यादा बुखार, खांसी अथवा वजन कम होने की समस्या क्षय रोग के लक्षण हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि ऐसी अवस्था में व्यक्ति को तुरंत समीप के चिकित्सा केंद्र में जाकर परामर्श व जांच करवानी चाहिए। उन्होंने कहा कि क्षय रोग यानि टीबी का इलाज संभव है तथा सही समय पर जांच व नियमित उपचार के साथ इस रोग से बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि 11 अक्टूबर, 2019 को नालागढ़ उपमंडल के विभिन्न आयुर्वेदिक चिकित्सा संस्थानों के फार्मेसिस्टों को क्षय रोग के संबंध में प्रशिक्षण दिया जाएगा। जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. मुक्ता रस्तोगी ने कहा कि सोलन जिला में क्षय रोग से पीडि़त लगभग 1500 रोगी हैं। इनमें से लगभग 500 रोगी केवल नालागढ़ उपमंडल में ही हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने वर्ष 2021 तक हिमाचल को क्षय रोग मुक्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here