Breaking News

कांग्रेस अध्यक्ष आशीष ठाकुर की अगुवाई में युवाओं ने बिलासपुर के बाहर अग्निवीर कानून के विरोध में धरना प्रदर्शन किया

जिला युवा कांग्रेस अध्यक्ष आशीष ठाकुर की अगुवाई में युवाओं ने आज जिलाधीश कार्यालय बिलासपुर के बाहर अग्निवीर कानून के विरोध में धरना प्रदर्शन किया,इस दौरान युवाओं ने केंद्र सरकार पर जमकर नारेबाजी की,इस मौके पर आशीष ठाकुर ने कहा कि केंद्र सरकार युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है उन्होंने कहा कि आज पहले ही पूरे देश मे बेरोजगारी चरम सीमा पर है ऊपर से केंद्र सरकार ने अग्निवीर योजना शुरू करके युवाओं के जख्मों पर नमक फेंकने का काम किया है,उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार भारतीय सेना को बड़े उद्यमियों के हवाले करने जा रही है,जिससे देश की सुरक्षा पर खतरा मंडरा रहा है,उन्होंने कहा कि युवा सेना में भर्ती होने के लिए रात दिन मेहनत करते हैं आज सरकार इस कानून को लाकर उनके भविष्य से खिलवाड़ करने पर उतारू हो गई है उन्होंने कहा कि भर्ती होने के बाद सिर्फ 4 सालों के लिए रोजगार मिलेगा उन्होंने कहा कि क्या मात्र 6 महीने के प्रशिक्षण से सेना का सिपाही तैयार हो पायेगा उन्होंने सरकार से पूछा है कि 4 वर्षों के बाद युवा क्या करेंगे,आशीष ठाकुर ने कहा कि इस कानून के विरोध में युवा कांग्रेस हस्ताक्षर अभियान चलाएगी उन्होंने कहा कि 20 जून को बिलासपुर के युवाओं के द्वारा इस कानून के विरोध में धरना रखा हुआ है जिसका बिलासपुर युवा कांग्रेस समर्थन करती है और 20 जून को युवा कांग्रेस युवाओं के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है और अंतिम समय तक इस लड़ाई को लड़ा जाएगा, उन्होंने बताया कि इस मौके पर उन्होंने एसी टू डीसी गौरव चौधरी के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन प्रेषित किया और उनसे मांग की है कि इस मामले को गम्भीरता से लेकर केंद्र सरकार को आदेश जारी करें और इस कानून को जल्द से जल्द निरस्त करवाया जाए।इस मौके पर जिला युंका महासचिव नरेश कुमार,जिला युंका महासचिव पंकज ठाकुर,जिला युंका महासचिव कमल किशोर,सदर युंका महासचिव गौरव शर्मा,सदर युंका महासचिव ऋतिक सोनी,सम्मी,शाहीन,राजा व अन्य युवा उपस्थित रहे।

About khalid

Check Also

जल शक्ति विभाग में तैनात आउटसोर्स कर्मचारियों ने वेतन न मिलने पर धरना प्रदर्शन किया शुरू

(सुभाष चंदेल)- चंगर क्षेत्र की दबट परियोजना में कार्यरत जल शक्ति विभाग में तैनात आउटसोर्स …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share